बाधाएं


🙏 जय श्री सच्चिदानंद जी 🙏

बाधाएं कभी स्थायी नहीं होती. वे बदलती रहती हैं. यह ठीक है कि कभीकभी बाधाएं पार करना हमारे लिए कठिन ही नहीं असंभव हो जाता है, लेकिन दृढ़संकल्प वाला व्यक्ति अपनी बुद्धि और प्रयत्न से कोई न कोई रास्ता निकाल ही लेता है. परिस्थितियां अधिक देर तक दृढ़ संकल्पी को अपनी गिरफ्त में नहीं रख सकती। 

*मित्रों हमेशा ध्यान रखें कि जब क्रोध में हों तो दस बार सोच कर बोलो और जब अत्यधिक क्रोध में हों तो सहस्त्र बार सोच कर बोलो।
🙏 जय श्री सच्चिदानंद जी 🙏
Share on Google Plus
Shri Nangli Sahib Darbar
    Google Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment