ईश्वर और विश्वास


🙏 जय श्री सच्चिदानंद जी 🙏

ईश्वर हमारी जितनी रक्षा करता है, कदम-कदम पर हर समय हमारी रक्षा करता है, हम कभी विचार ही नहीं करते। 

जैसे हम रात को खा पीकर सो जाते हैं कौन हमारी सांस चलाए रखता है। रात को भी हम सोते रहते हैं तब भी चलाए रखता है, यह ईश्वर है, जो हमारी सांस चालू रखता है, और हमारी रक्षा करता है। यदि सांस लेने की व्यवस्था हमारे अधीन होती, तो शायद हम सो भी नहीं पाते। और यदि सो जाते, तो सांस नहीं चला पाते। तब सोते ही दो मिनट में हमारा शांति पाठ हो जाता।

इसी तरह से हम दिन में खेती व्यापार अध्ययन आदि और भी बहुत सारे काम करते रहते हैं, और ईश्वर की व्यवस्था शरीर में पाचन और रस रक्त आदि धातुओं का निर्माण, रक्त संचार और न जाने कितनी व्यवस्थाएं हमारे शरीर में चलती रहती है, जो हमारी रक्षा करती हैं।

इस प्रकार से ईश्वर हमारा रक्षक है, अनादि काल से हमारे कर्मों का फल देता है और आगे भी अनंत काल तक देता रहेगा, और इस तरह से वह हमारी रक्षा करता है और करता रहेगा। हम ईश्वर का बहुत उपकार मानते हैं। आप सब को भी मानना चाहिए।

🙏 जय श्री सच्चिदानंद जी 🙏
Share on Google Plus
Shri Nangli Sahib Darbar